समर्थक

शनिवार, 13 दिसंबर 2014

सुषमा और पवन परिणय सूत्र में बँधे

सुषमा और पवन परिणय सूत्र में बँधे


परमात्मा राम यादव की सुपुत्री कु. सुषमा का शुभ विवाह बंसी लाल यादव के सुपुत्र चि. पवन के साथ 6 दिसंबर 2014 को इंदिरा हॉलीडे होम, सेक्टर 24, चंडीगढ़  में बड़े धूम धाम से संपन्न हुआ।  यादव समाज वर-बधु को शुभ आशीर्वाद देते हुए कामना करता है कि वे सदा  सुखी, स्वस्थ और संपन्न रहें। सदा प्रगति के पथ पर अग्रसर रहे।  परमपिता परमेश्वर उनका जीवन खुशियों से भर दे।

परमात्मा राम यादव पंजाब यूनिवर्सिटी चंडीगढ़ में कार्यरत हैं और यूनिवर्सिटी कैंपस में रहते भी हैं।  उनके परिवार में उनकी  पत्नी, दो पुत्र, एक पुत्री , एक पुत्र- वधू  के अतिरिक्त दो छोटे-छोटे प्यारे-प्यारे नन्हें-मुन्ने पौत्र भी हैं।  छोटा बेटा मनोज कुमार अविवाहित है।

उनके   परिवार का प्रत्येक सदस्य   हँसमुख, व्यवहार कुशल , शिक्षित एवं बहुत ही  मिलनसार  है।  सरकारी काम काज और अपने निजी कार्यों  को बखूबी निभाते हुए,  वे सामाजिक कार्यों में भी  बढ़-चढ़ कर हिस्सा लेते हैं।  चंडीगढ़ की यादव सभा के प्रतिष्ठित सदस्य हैं। चंडीगढ़ के यादव समाज में उनका बहुत मान सम्मान है।

जय श्रीकृष्ण !!


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

वर्णयामि महापुण्यं सर्वपापहरं नृणां ।
यदोर्वन्शं नरः श्रुत्त्वा सर्वपापैः प्रमुच्यते।i
यत्र-अवतीर्णो भग्वान् परमात्मा नराकृतिः।
यदोसह्त्रोजित्क्रोष्टा नलो रिपुरिति श्रुताः।।
(श्रीमदभागवद्महापुराण)


अर्थ:

यदु वंश परम पवित्र वंश है. यह मनुष्य के समस्त पापों को नष्ट करने वाला है. इस वंश में स्वयम भगवान परब्रह्म ने मनुष्य के रूप में अवतार लिया था जिन्हें श्रीकृष्ण कहते है. जो मनुष्य यदुवंश का श्रवण करेगा वह समस्त पापों से मुक्त हो जाएगा.