समर्थक

गुरुवार, 19 मई 2011

श्री बी.पी मंडल



Shri B.P.Mandal(Bindeshwari Prasad Mandal) was born in Gwala family in Banaras. He was son of Sh. Ras Bihari Mandal. He was Member of Parliament from 1967 to 1970 and again from 1977 to 1979. He was also Chief Minister of Bihar in 1968. He was the Chairman of 2nd Backward Commission (popularly known as Mandal Commission).

लालू प्रसाद यादव, बिहार के भू.पू.मुख्यमंत्री

 
लालू प्रसाद यादव का जन्म ११ जून १९४७ को बिहार के गोपलगंज जिले के फुलवरिया गांव मे  एक यादव परिवार मे हुआ । उनके पिता का नाम कुंदन राय और माता का नाम मरचिया देवी है। लालू प्रसाद यादव का विवाह 1 जून 1973 को राबडी देवी से हुआ।  उनके सात बेटियां और दो बेटे है जिनमे से सभी बेटियों की शादी हो चुकी है।उनकी  प्रारंभिक शिक्षा पारिवारिक देखरेख   मे गोपालगंज से पूरी  हुई किंतु उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए उन्हे  पटना जाना पड़ा। पटना के  बी. एन. कालेज से एल. एल. बी. तथा राजनीतिक शास्त्र मे एम. ए. की डिग्री हासील की ।

राबडी देवी ,बिहार की भू.पू मुख्यमंत्री

.
विश्वास  नही होता कि राजनीती के दाँव पेचों से बिलकुल  अनभिज्ञ, अनुभवहीन गृहणी,  भारत के दूसरे  सबसे बड़े प्रान्त की मुख्यमंत्री बन बैठेगी । हाँ ऐसा ही हुआ,  यह सपना नही सच्चाई है, यादव घराने की एक महिला राबड़ी देवी ने यह अद्भुद कारनामा कर दिखाया।  इसे महज संयोग कहिये या फिर किस्मत का खेल,   25 जुलाई  1997 को  कोई प्रयास किये बिना ही राबडी देवी को  बिहार के   मुख्यमंत्री की कुर्सी प्राप्त हो गई । इस प्रकार जहाँ  उन्हे बिहार प्रांत की प्रथम महिला मुख्यमंत्री होने का सौभाग्य प्राप्त हुआ वहीँ   देश  की प्रथम यदुवंशीय महिला मुख्यमंत्री होने का सौभाग्य भी प्राप्त हुआ ।

राबड़ी देवी जाने माने  राष्ट्रीय नेता लालू प्रसाद यादव   की पत्नी हैं।  उनका जन्म सन 1959 में गोपालगंज जिले के रहने वाले शिव प्रसाद चौधरी के घर हुआ था।  उनका विवाह 14 वर्ष की आयु में लालू प्रसाद यादव के साथ हुआ।  उनके दो बेटे और नौ बेटियां हैं ।1997 में चारा' घोटाले' केस  के तहत  बिहार के तत्कालीन मुख्यमन्त्री   लालू प्रसाद  यादव को जब जेल जाना पड़ा तो उस समय वे अपना पदभार राबड़ी देवी  को  सम्भाल गये थे। अनुभवहीन  होने के उपरांत भी अपने पति की लोकप्रियता के बल पर लगभग आठ वर्षो तक वे बिहार की मुखिया बनीं रहीं। मुख्यमंत्री पद पर आसीन रहने की अवधि इस प्रकार है :
                    
                              1.  25 जुलाई 1997 से 11 फरवरी 1999 तक
                              2.  9 मार्च  1999 से 2 मार्च 2000 तक
                              3. 11 मार्च 2000 से 6 मार्च 2005 तक



Mulayam Singh Yadav Former Chief Minister of Uttar Pradesh



मुलायम सिंह यादव को भारतीय राजनीति मे विशिष्ट स्थान प्राप्त है।वे  बहुत ही लोकप्रिय राष्ट्रीय नेता हैं। प्यार से लोग उन्हें  "नेता जी"  कहते हैं।वे देश के सर्वाधिक  जनसँख्या वाले प्रान्त  उत्तर प्रदेश के    तीन बार मुख्यमंत्री और एक बार केंद्र सरकार  में  रक्षा मंत्री रह चुके हैं।  वे समाजवादी पार्टी के वर्तमान  राष्ट्रीय अध्यक्ष भी  हैं।  उनका जन्म 22 नवम्बर, 1939  मे  उत्तर-प्रदेश के  इटावा जिले मे सैफ़ई गाँव के एक संपन्न  कृषक  परिवार में  हुआ  था।  उनके पिता का नाम सुघर सिंह और माता का नाम मूर्ती देवी है । उनके चार भाई और एक बहन है।  भाइयों  के  नाम हैं -रतन सिंह यादव , अभयराम सिंह यादव, शिवपाल सिंह यादव और रामगोपाल सिंह यादव  तथा   बहन का नाम  कमला देवी है ।   रतन सिंह आयु मे उनसे बडे हैं त्तथा  अन्य  भाई बहन  उनसे छोटे। मुलायम सिंह ने दो विवाह किये । उनकी पहली पत्नी का नाम था मालती देवी ।  अखिलेश यादव का जन्म उन्ही   के गर्भ से हुआ था ।  अखिलेश छोटे ही थे कि  उनकी  माता   का देहांत हो गया ।   मुलायम सिंह ने साधना गुप्ता नामक स्त्री से दूसरा  विवाह कर लिया था।   साधना के गर्भ से भी एक पुत्र  उत्त्पन्न हुआ जिसका नाम  है प्रतीक यादव । मुलायम सिंह ने आगरा विश्वविद्यालय से स्नात्तकोतर डिग्री और जैन इंटर कालेज, करहल (मैनपुरी) से बी. टी. की डिग्री प्राप्त की है। 

मुलायम सिंह यादव का राजनैतिक सफर  1950 के दशक के दौरान तब आरम्भ हुआ जब वे  महान समाजवादी नेता राममनोहर लोहिया की विचारधारा से प्रभावित  होकर उनके द्वारा चलाए जा रहे आंदोलन में शामिल होकर  किसानो, पिछड़े वर्ग, और दलितो की सेवा तथा  उनकी उन्नति और उत्थान  के कार्य मे जुट गए ।  1967 मे  वे पहली बार विधान सभा सदस्य चुने  गए। निम्न-लिखित कालावधि तक वे तीन बार उत्तर-प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे -
                    पहली बार-       5 दिसम्बर 1989  से 24 जून 1991 तक    
                    दुसरी बार   -    5 दिसम्बर 1993 से 3 जून 1995 तक
                    तीसरी बार -    29 अगस्त 2003 से 11 मई 2007
                    जून 1996  से   मार्च 1998 तक वे केंद्र सरकार में रक्षा मंत्री  रहे। 






                 



















Rao Birender Singh

Rao Birender Singh, 2nd Chief Minister of Haryana State and 1st Speaker of Haryana Vidhan Sabha was born on 2oth February, 1921 in the village of Nangal Pathani. He was direct descendent of Rao Tula Ram, the most important leader of 1857 Revolt in Haryana.

Ram Naresh Yadav

Ram Naresh Yadav, Former Chief Minister of Uttar Pradesh.

चौधरी ब्रह्मप्रकाश, दिल्ली के प्रथम मुख्यमंत्री

Chaudhary Brahm Prakash, 1st C.M. of Delhi.


श्री दरोगा प्रसाद राय,बिहार के भू.पू.मुख्यमंत्री



Sh. Daroga Prasad Rai born on 2 September, 1922. He was one of the great leaders of Bihar born Yadav family. He was the Chief Minister of Bihar from February 1970 to December, 1970.

श्री बाबूलाल गौर, मध्य प्रदेश के भूतपूर्व मुख्यमंत्री



Shri Babu Lal Gaur, Former Chief Minister of Madhya Pradesh, was born in a Yadav family at Naugir Village in Pratapgarh District in U.P. He served as Chief Minister of Madhya Pradesh from August 2004 to November, 2005. He is a member Bhartiya Janta Party
वर्णयामि महापुण्यं सर्वपापहरं नृणां ।
यदोर्वन्शं नरः श्रुत्त्वा सर्वपापैः प्रमुच्यते।i
यत्र-अवतीर्णो भग्वान् परमात्मा नराकृतिः।
यदोसह्त्रोजित्क्रोष्टा नलो रिपुरिति श्रुताः।।
(श्रीमदभागवद्महापुराण)


अर्थ:

यदु वंश परम पवित्र वंश है. यह मनुष्य के समस्त पापों को नष्ट करने वाला है. इस वंश में स्वयम भगवान परब्रह्म ने मनुष्य के रूप में अवतार लिया था जिन्हें श्रीकृष्ण कहते है. जो मनुष्य यदुवंश का श्रवण करेगा वह समस्त पापों से मुक्त हो जाएगा.