समर्थक

रविवार, 14 दिसंबर 2014

साहिल यादव बने मुनि

12 दिस्म्बर 2014 को चंडीगढ़ के सेक्टर 18 स्थित टैगोर थियेटर के मंच  से ट्रिब्यून माडल स्कूल के सातवीं से दसवीं कक्षा के विद्यार्थियों ने, वार्षिक समारोह के अवसर पर " स्वर्ण जागृति" नामक  एक  नाटक का मंचन किया। प्रस्तुति बहुत ही सुन्दर थी।   इस ब्लॉग के लेखक राम अवतार यादव के  पौत्र 'साहिल यादव' ने इसमें मुनि (ब्रह्मण देवता ) की एक्टिंग की। एक्टिंग बहुत ही सराहनीय और शानदार थी।  यादव समाज इसके लिए,  इस ब्लॉग के माध्यम से  साहिल यादव को हार्दिक शुभकामनायें  देता है।

जय श्रीकृष्ण !!
वर्णयामि महापुण्यं सर्वपापहरं नृणां ।
यदोर्वन्शं नरः श्रुत्त्वा सर्वपापैः प्रमुच्यते।i
यत्र-अवतीर्णो भग्वान् परमात्मा नराकृतिः।
यदोसह्त्रोजित्क्रोष्टा नलो रिपुरिति श्रुताः।।
(श्रीमदभागवद्महापुराण)


अर्थ:

यदु वंश परम पवित्र वंश है. यह मनुष्य के समस्त पापों को नष्ट करने वाला है. इस वंश में स्वयम भगवान परब्रह्म ने मनुष्य के रूप में अवतार लिया था जिन्हें श्रीकृष्ण कहते है. जो मनुष्य यदुवंश का श्रवण करेगा वह समस्त पापों से मुक्त हो जाएगा.